Latest NewsBollywood Angel Aishwarya Rai फसी CBI के चुंगुल में विदेश में पैसा...

Bollywood Angel Aishwarya Rai फसी CBI के चुंगुल में विदेश में पैसा चार्ज का हैं मामला

Bollywood Angel Aishwarya Rai

बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत और बच्चन घर की इकलौती बहू Aishwarya Rai Bachchan इन दिनों कॉन्ट्रोवर्सी में हैं। कहते हैं की सालो पहले जो हवा थी वही हवा बाह चली हैं और उनका नाम एक बार फिर पनामा पेपर्स मामले से जोड़ा गया है। जब से बॉलीवुड क्वीन Aishwarya Rai Bachchan आया है तब बच्चन फॅमिली और ब्यूटी क्वीन चर्चा में रहती है। इतना ही नहीं पूरे मामले को लेकर उनसे दिसंबर वर्ष 2021 में उनसे कई एक सवाल जबाब भी किये हाय थे।

क्या था असल मामला?

गुप्त चरों के अनुसार जब इस मामले की बात चीत की गयी तो पता चला हैं की भारत की ब्यूटी क्वीन Aishwarya Rai पर अपने देश का पैसा विदेश में खर्च करने का पैसा उड़ने आरोप लगाया गया हैं। जब आप हम आप को बता दें की इस मामले की अभी जड़ से या कोई पुख्ता जानकारी नहीं हासिल हुई है।

इस मामले को सक में लेने के बाद ऐश्वर्या को ईडी के दफ्तर जाना पड़ा था और उनसे एक लम्बे सबल जवाब भी किये गए थे । इसके लिए बच्चन परिवार की बहु को दिल्ली आना पड़ा। इस सब सिलसिले कर अभिनेत्री के नाम के साथ साथ पूरी बच्चन परिवार पीढ़ी पर उंगलिया उठाई है।

ये भी पढ़िये > सुशांत सिंह राजपूत की जयंती: आज सभी सुशांत को उनके प्रदर्शन को याद करते हैं।

क्या खुलाशा हुआ Aishwarya Rai Bachchan से पूछतांछ में

हमारे देश की आन मान सान हैं कुछ भारत के परिवार, जिनमे से एक बच्चन परिवार भी आता हैं, पर हमारी कहने सुनने की बातें हैं, असल मुद्दे से पता चल, जब बचाएं परिवार की बहु से ऑफिसरों से तक़रीबन पांच घंटे सवाल जवाब किये, कि Aishwarya Rai Bachchan के पास हमारे अपने देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी महंगी धन संपत्तियां हैं, जिसकी वह हक़ दार हैं और आप जानकारी के खुलासा भी किया गया की इस सम्पति में कई एक महंगे घर भी शामिल हैं। जब से Aishwarya Rai का नाम सामने आया है तब से उन्हें खूब सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जा रहा है।

भारतीय कानून व्यवस्था

हमारे देश के कानून मुताबिक, प्रवर्तन निदेशालय ने 2017 में विदेशी मुद्रा के उल्लंघन के केसों और आरोपों की तह तक जांच शुरू की थी। इस जांच से कुछ विषयों का फ़र्दा फ़ास्ट हुआ हैं। और ऐसी के मुतफिख जब बच्चन परिवार को समन जारी किया गया। इन परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए भारत सर्कार ने उनसे 2004 के बाद से भारतीय रिज़र्व बैंक की उदारीकृत प्रेषण योजना (एलआरएस) के तहत अपने विदेशी खर्च या इन्वेस्टमेंट की व्याख्या करने के लिए सूचित किया गया था।

- Advertisement -

2003 तक, हमारे देश का नियम रहा की किसी भी भारतीय को विदेशी इकाई स्थापित करने की अनुमति नहीं थी। लेकिन 2004 में, आरबीआई ने मानदंडों को आसान बना दिया और हम देशवाशियों को विदेशी कंपनियों के शेयर खरीदने की अनुमति दे दी गयी, लेकिन उन्हें कभी भी विदेशों में कंपनियां स्थापित करने की अनुमति नहीं दी। लीक हुए कागजात से पता चला है कि भारतीयों द्वारा स्थापित अधिकांश अपतटीय कंपनियां 2004 से बहुत पहले की थीं।

कैसे हुआ खुलासा क्या हैं सच?

वर्ष 2016 से पास चाहें जितनी धन या कुबेर की बर्षा हो पर आप के हाथ अभी भी बंधे थे की आप के पैसे होने के बावजूद भी आप किसी बाहरी देश में उसे खर्च नहीं कर सकते पर नियमों में परिवर्तन के अनुसार इसकी शुरुआत 2016 में हुई जब पनामा स्थित कानूनी फर्म मोसैक फोंसेका (एमएफ) के 11 मिलियन से कई अधिक दस्तावेज़ (या 2.6 टेराबाइट डेटा) लीक हो गए थे।

पनामा पेपर्स’ नामक लीक हुए दस्तावेज़ से विदेशी कंपनियों के एक वैश्विक और सेछड़िंक सर्वर का पता चलता है, जिसकी आड़ में देश विदेश के कई एक अमीर जादों की अपनी संपत्ति छिपाने में मदद करते हैं।

इस हुए खुलासे, पनामा पेपर्स में दुनिया भर की अपतटीय कंपनियों से जुड़ी प्रमुख अमीर हस्तियों का नाम एक सूची में सूचीबद्ध कर लिया गया जिसमे एक हमारे देश के महा नायक अमिताभ बच्चन, जी की बहु Aishwarya Rai बच्चन, डीएलएफ के मालिक के पी सिंह और गौतम अडानी के बड़े भाई विनोद अडानी जैसे नाम निकल के सामने नजर अये हैं।

Aishwarya Rai Bachchan
जानिये क्यों फसी बच्चन परिवार की बहु Aishwarya Rai Bachchan मुसीबत में।

मीडिया ने कैसे की कवर न्यूज़

विभिन्न मीडिया द्वारा की गई जांच से पता चला है कि पनामा पेपर्स में विदेशी कंपनियों की सूची में 500 से अधिक भारतीय नाम हैं। प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों के मुताबिक, एमिक पार्टनर्स नाम की एक ऑफशोर फर्म की स्थापना 2004 में ऐश्वर्या राय के निर्देशन में ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड्स में की गई थी। लॉ फर्म मोसैक फोंसेका ने कंपनी को 50,000 डॉलर की चुकता पूंजी के साथ पंजीकृत किया। कंपनी ने गोपनीयता कारणों से ऐश्वर्या राय का नाम छोटा कर ए राय कर दिया है।

अभिनेत्री का विदेश में इन्वेस्टमेंट

बॉलीवुड अभिनेत्री Aishwarya Rai बच्चन पनामा पेपर्स लीक मामले में सोमवार को नई दिल्ली में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों के समक्ष पेश हुईं, जिसमें कथित तौर पर फेमा मानदंडों का उल्लंघन किया गया था। ईडी के अधिकारियों ने उनका बयान दर्ज किया। जांच में भाग लेने के लिए अभिनेत्री को तीन बार बुलाया गया था।

कब आया अभिनेत्री को समन ?

हमने उन्हें 20 दिसंबर 2021 को समन भेजा था। समन मुंबई में उनके आवास पर भेजा गया था। समन के मुताबिक, वह जांच में शामिल हो गए हैं।’ एसआईटी फिलहाल ईडी के वरिष्ठ अधिकारियों के बयान दर्ज कर रही है।

यह पहली बार नहीं है जब उन्हें बुलाया गया है। उन्हें पहले भी दो बार बुलाया गया था। हालांकि, वह जांच में शामिल नहीं हुए। उन्हें पहले नौ नवंबर 2021 को मामला दर्ज करने के लिए बुलाया गया था लेकिन वह पेश नहीं हुए।

अगर आप हमरे ब्लॉग को पहली बार पढ़ रहे तो आप हमारे InstagramFacebookTwitter, चैनल को फॉलो करे जिससे की आप को लेटेस्ट एंटरटेनमेंट जानकारी असनी से प्राप्त हो सके

अन्य पढ़ें > 1920 से 1980 में भारत की 10 सबसे खूबसूरत हीरोइन

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share article

Latest articles